UPPCL Power Cut new rules in Rural Area अब उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में नहीं मिलेगा 24 घंटे बिजली ?

UPPCL Power Cut new rules in Rural Area उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में अब नहीं मिल सकती 24 घंटे बिजली, ग्रामीण शहरों में कट सकती है इतने घंटे बिजली,

उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन का बड़ा फैसला आया सामने, अब ऐसे में कितने घंटे मिल सकती है ग्रामीण इलाकों में बिजली, इस फैसले से ग्रामीण इलाकों में हो सकता है। भयंकर बावल,

UPPCL Power Cut new rules in Rural Area दरअसल पिछले कई दिनों से उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में लगातार बारिश की वजह से जूझ रहे ग्रामीण इलाकों में लगातार बिजली की कटौती का मामला सामने आया है। इसमें लोगों का कहना है कि जब तक बारिश होती है। तब तक बिजली का कोई अता-पता नहीं रहता है।

UPPCL Power Cut new rules in Rural Area बारिश की वजह से ग्रामीण इलाकों में नहीं मिल पा रही है। भरपूर बिजली।

यहां तक तो समझ में आता है की बारिश की वजह से बिजली कट रही है लेकिन बारिश जब खुलता है। उसके बाद भी बिजली लगता है कि ग्रामीण लोगों से मजाक कर रही है। क्योंकि कुछ सेकेंड के लिए बिजली आती है और उसके ठीक कुछ सेकेंड बाद बिजली चली जाती है।

UPPCL power cut new rules in rural area

UPPCL Power Cut new rules in Rural Area इस पूरे मामले की शिकायत दर्ज करने के लिए जब ग्रामीण इलाकों से लोग पावर हाउस पहुंचते हैं तो पावर हाउस कर्मचारी का यह करना होता है की बारिश की वजह से कई जगह तार ढीली पड़ी हुई है। आग लगने का खतरा है। ऐसे बहाने बनाकर वहां से लोगों को हटा दिया जाता है।

लोगों का यही कहना है। कि जब तारे कई जगह लूज पड़ी हुई है तो उसको ठीक करके बिजली तुरंत ग्रामीण इलाकों में पहुंचाई जाए क्योंकि बिजली एक ऐसी रोशनी है जो एक गरीब के घर में और अमीर के घर में दिए का काम करती है।

UPPCL power cut new rules in rural area

UPPCL Power Cut new rules in Rural Area बिजली कटौती से परेशान ग्रामीण के लोग कर रहे हैं। पावर हाउस पर दिया धरना प्रदर्शन। ?

आजकल तो अमीर घर के लोगों ने बिजली को अपने घर में बनाए रखने के लिए कुछ पैसा खर्च करके इलेक्ट्रॉनिक जैसे इनवर्टर सोलर लाइट का प्रबंध कर लिया है। तो उनको बिजली आने जाने से कोई फर्क नहीं पड़ता है। लेकिन वहीं पर अगर ग्रामीण इलाकों की बात करें तो वहां पर रहने वाले ऐसे भी लोग हैं जिनके पास इतने पैसे नहीं हैं।

जो अपने घर में बिजली को को बचाएं रखने के लिए अलग से इनवर्टर या सोलर लगवा सकें। इसीलिए उनका बिजली ही उनका दिया है।
आज से 10 साल पहले जब ग्रामीण इलाकों में बिजली नहीं थी तो घर घर में घासलेट यानी मिट्टी का तेल कोटेदार के तरफ से मिलता था।

उस तेल से ग्रामीण इलाकों के लोगों ने अपना दिया और उस पर भोजन बनाने के काम में लाते थे। लेकिन पता नहीं क्यों सरकार की ऐसी राय बदली की उन्होंने मिट्टी का तेल बंद करके हर घर में बिजली देने का वादा कर दिया।

UPPCL power cut new rules in rural area

UPPCL Power Cut new rules in Rural Area उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में 24 घंटा बिजली देने का वादा करके आज उन्हें ठीक से 8 घंटे भी बिजली नहीं मिल रहा है।

यह सिलसिला तो कुछ समय तक ठीक चल उसके बाद जैसे टाइम बीतता गया तो इसमें भी कुछ बदलाव किए गए और ग्रामीण इलाकों के लोगों को यह आशा दिलाया गया कि उन्हें 24 घंटे मुफ्त में बिजली प्रदान की जाएगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ लोगों को बिजली तो मिलती है लेकिन साथ-साथ उसका बिल भी मिलता है।

फिर भी कई ऐसे लोग हैं जो इस बिजली के बिल को जमा भी किए हैं फिर भी उन्हें अभी तक अच्छी तरह से 20 घंटे भी बिजली नहीं मिली है। लोग कहते हैं बिजली का असली सुविधा ग्रामीण इलाकों में ठंडी के महीने में ही मिलती है क्योंकि ठंड के महीने में बिजली का ज्यादा इस्तेमाल नहीं है इसीलिए बिजली विभाग के अधिकारियों ने ठंड में ज्यादा बिजली देने का प्रावधान बनाया हुआ है।

और जब से गर्मी बरसात चालू हो जाती है तो फिर इनकी नौटंकी भी चालू हो जाती है। इसका असर सिर्फ ग्रामीण इलाकों में ही नहीं बल्कि स्कूल, कॉलेज और अस्पताल में भी इसकी वजह से कई सारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

UPPCL power cut new rules in rural area

UPPCL Power Cut new rules in Rural Area ग्रामीण इलाकों में बिजली की कटौती को लेकर बिजली विभाग की तरफ से आया बड़ा फैसला।

इस समय बिजली को 24 घंटे में से 2.00 से 2.30 घंटे बिजली काटने का फैसला बिजली विभाग कर्मचारी की तरफ से ले लिया गया है। इसका विरोध आम जनता अभी तक कर रही है। लेकिन उनको अभी तक इस परेशानी में कोई हल नहीं देखा है।

UPPCL Power Cut new rules in Rural Area के इस पूरे मामले पर सवाल उठाते हुए विद्युत उपभोक्ता कर्मचारी का बड़ा बयान सामने आया। उन्होंने अपने बयान में कहा कि इस पूरे ग्रामीण इलाकों में 24 घंटे बिजली देने के बाद अब रोस्टर व्यवस्था क्यों लागू किया जा रहा है। उन्होंने अपने विचार में कहा कि विद्युत उपभोक्ता अधिकार नियम 2020 धारा 10 के तहत सभी शहरी एवं ग्रामीण इलाकों में 24 घंटे बिजली मिलने का अधिकार है।

UPPCL power cut new rules क्या है। ?

UPPCL power cut new rules in rural के अनुसार अब उत्तर प्रदेश के सभी इलाकों में 24 घंटे बिजली की वजह है 8 घंटे बिजली देने का नियम लागू किया गया है।

उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में टाइम से बिजली क्यों नहीं मिल रही है। ?

उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में टाइम से बिजली इसलिए नहीं मिल रहे हैं क्योंकि इस समय बारिश का सीजन है। शायद इसी वजह से इन इलाकों में बिजली कम दी जा रही है।

अधिकतर गर्मियों के सीजन में ग्रामीण इलाके की बिजली क्यों काटी जाती है। ?

अधिकतर गर्मियों के सीजन में ग्रामीण इलाकों में बिजली इसलिए काटी जाती है क्योंकि हर गांव में कुछ नंगे तार और कुछ कच्चे मकान है। इन इलाकों में सबसे ज्यादा आग लगने का खतरा बना रहा है।इसीलिए ग्रामीण इलाकों में गर्मियों के सीजन में सबसे ज्यादा बिजली काटी जाती है।

Leave a Comment